Sign in |  Weekly Newsletter |  Personalize RSS Feeds |   News Feeds

भाषा बदलें   Arabic    Chinese    English   Hindi    Japanese    Korean    Persian

  

इज़्रायल और फिलिस्तीन: ख़तरनाक स्थिति के लिये तैयारी

Published on: July 1st 2007 17:53:16
१९ जून को राष्ट्रपति बुश की इज़्रायली प्रधानमंत्री इहुद ओलमार्ट से संकटपूर्ण माहौल में बैठक हुई। ओलमार्ट ने इज़्रायल के शांति वार्ताओं में लौटने से पूर्व की स्थिति की ज़रुरतों को रेखांकित किया। उन्होंने मौलिक सुविधाओं के अतिरिक्त हर चीज़ से हम़ास को अलग-थलग करके उसे नष्ट करने के, बकौल उनके, एतिहासिक अवसर पर ज़ोर दिया। अमरीकी अधिकारी हमें बताते हैं कि यह रवैया व्हाइट हाउस के लिये एक विडंबना है। बुश हमास को ख़त्म करने की इच्छा से तो सहमत हैं लेकिन निजी तौर पर उन्हें फ़िलिस्तीनी प्राधिकरण (पी० ऐ०) के राष्ट्रपति महमूद अब्बास से किसी पायेदार विकल्प की आशा नहीं है। पी० ऐ० के प्रधानमंत्री सलाम फ़य्याद का वाशिंगटन में काफी आदर-भाव है। उन्हें छोड़ कर, प्राधिकरण के बाकी मंत्री कमज़ोर माने जाते हैं। अमरीकी गुप्तचर अधिकारियों ने व्हाइट हाउस को इज़्रायल के हमास को कमज़ोर समझने के आंकलन को स्वीकार करने के विरुद्ध चेतावनी दी है। वे हमास को एक सुसंगठित, अस्त्रों से अच्छी तरह लैस और, ईरान से प्राप्त धन से, संपन्न समझते हैं। वे यह भी समझते हैं कि जब तक पी० ऐ० अपनी भ्रष्ट छवि को नहीं सुधारती (जिसकी उसे संभावना नहीं है), हमास पश्चिमी किनारे पर अपना समर्थन बढ़ायेगी। हमास में गतिमयता है। गज़ा उसके लिये काफी नहीं है। उसका उद्देश्य सभी फ़िलिस्तीनियों को एक झंड़े के नीचे लाना है, एक गुप्तचर अधिकारी ने हमें बताया। इस पृष्ठभूमि को ध्यान में रख कर, बुश ने ओलमार्ट से पी० ऐ० को मिलने वाली बकाया टैक्स राशि का जल्द भुगतान करने और इज़्रायली अधिकार वाले सीमा-नाकों पर ढ़िलाई बरतने की राय दी। अमरीका अपनी शरणार्थी सहायता में ४ करोड़ डालर की वृद्धि करने जा रहा है। बुश ने इज़्रायल के भविष्य संबंधी इरादों पर भी ओलमार्ट से पूछताछ की। अमरीकी अधिकारियों को यह चिंता है कि नये प्रतिरक्षा मंत्री इहुद बराक, यदि मिसल हमले जारी रहते है, जैसी की प्रत्याशा है, तो वे सैनिक कार्यवाही के पक्षधर हैं। कुल मिला कर स्थिति भयावह है। हमें शांति प्रक्रिया की कोई संभावनायें दिखाई नहीं पड़ती, ऐसा हमें बताया गया है। व्हाइट हाउस के लिये शक्ति का स्रोत यह है कि सभी अग्रणी डैमोक्रैटिक नेता इस रवैये का समर्थन करते हैं।

मुख्य पृष्ठ | लेख | पिछले अंक | आप के सुझाव | हमारे बारे में | संपर्क | विज्ञापनदाता | Disclaimer